छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़-गौरेला पुलिस के मध्यप्रदेश से हाथी चढ़ा शराब तस्कर सरगना

गौरेला/पेंड्रा/मरवाही.

जीपीएम पुलिस ने अंतरराज्यीय शराब तस्करी का सरगना मध्यप्रदेश के बिजुरी भट्ठी संचालक समेत अन्य दो सहयोगियों को गिरफ्तार किया है। दो दिन पूर्व मरवाही पुलिस ने रात्रि गश्त दौरान संदिग्ध पिकअप वाहन को लगभग 1420 लीटर अंग्रेजी ब्रांडेड शराब के साथ किया था बरामद किया था। वही आरोपी पायलेटिंग कर रही कार में सवार होकर अंधेरे का फायदा उठाकर मौके से भाग गए थे। जिसके बाद मरवाही पुलिस और साइबर सेल की टीम सहायता ने संयुक्त कार्यवाही करते हुए 72 घंटे में मुख्य आरोपी सहित दो सहयोगियों को भी गिरफ्तार कर लिया है।

पकड़ा आरोपी शराब तस्करी का पुराना सरगना और वर्तमान में एमपी में चला रहा ठेके की तीन शराब भट्टियां का संचालन भी कर रहा है। दरअसल दो दिन पहले मरवाही क्षेत्र में अंतर्राज्यीय शराब तस्करी पर कार्यवाही करते हुए मरवाही पुलिस ने रात्रि गश्त दौरान अवैध तरीके से परिवहन करते हुए एक पिकअप वाहन को लगभग 1420 लीटर ब्रांडेड मध्यप्रदेश की अंग्रेजी शराब के साथ पकड़ा गया था जप्त शराब की कीमत लगभग 10 लाख रुपये थी वही आरोपी अंधेरे का फायदा उठाकर आरोपी भाग निकले थे। मामले की गंभीरता को देखते हुए साइबर सेल और मरवाही पुलिस की संयुक्त दो टीमें गठित कर मामले में फरार आरोपियों को पतासाजी और गिरोह के प्रमुख के संबंध में पूछताछ शुरू की गई। मौके पर छोड़ी गई पिकअप गाड़ी से मिले दस्तावेजों के आधार पर पुलिस टीम जब तफ्तीश करते हुए मध्यप्रदेश पहुंची तो पता चला कि आरोपियों द्वारा पहले शहडोल वेयरहाउस से माल लोड कर दो अलग अलग वाहनों में रखवाया गया जिसमे से एक लोडेड वाहन 407 ट्रक तो अपने नियत स्थान बिजुरी के भट्ठी पहुंचा परंतु दूसरा पिकअप वाहन भट्ठी संचालक राजनारायण जायसवाल के बताए अनुसार छत्तीसगढ़ एंट्री कराकर सरगुजा की ओर भेजे जाने का प्लान था जिसे  मरवाही पुलिस के द्वारा रात्रि गस्त के दौरान बीच में ही पकड़ लिया गया। मामले का मुख्य आरोपी राम नारायण जायसवाल इस दौरान अपनी स्विफ्ट डिजायर कार से रेकी कर रहा था और पिकअप की पायलेटिंग कर रहा इसलिए प्राप्त टेक्निकल डाटा और आसपास के सीसीटीवी फुटेज के आधार पर मामले के मुख्य शराब तस्कर राजनारायण को उसकी स्विफ्ट डिजायर कार जप्त करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। राजनारायण जायसवाल मुख्यतः छत्तीसगढ़ के लखनपुर अंबिकापुर का रहने वाला है और पूर्व में 5 बार एनडीपीएस एक्ट और दो बार आबकारी एक्ट के मामलों में भी चालान किया जा चुका है इसके विरुद्ध धारा 110 सीआरपीसी के तहत आभ्यासिक अपराधी होने के लिए बॉन्ड ओवर भी प्रस्तावित है।

मामले में पुलिस ने रामनारायण जायसवाल सहित उसके दो सहयोगी ओम प्रकाश राजवाड़े उम्र 23 वर्ष पता कंचनपुर थाना लखनपुर जिला सरगुजा और तीसरा आरोपी हरदेव राजवाड़े उम्र 32 वर्ष पता कंचनपुर थाना लखनपुर जिला सरगुजा को गिरफ्तार कर लिया है और पुलिस मामले में आगे की कार्यवाही में जुट गई है।

KhabarBhoomi Desk-1

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button