राजनैतिक

हरियाणा में ब्राह्मण CM की मांग, खट्टर ने कसा तंज, सोशल मीडिया पर सोने से पहले मुख्यमंत्री बदलने का शौक

 करनाल 

हरियाणा में मुख्यमंत्री बदलने की अफवाहों के बीच मंच पर सीएम मनोहर लाल खट्टर के सामने बीजेपी सांसद अरविंद शर्मा ने कहा कि प्रदेश को ब्राह्मण मुख्यममंत्री चाहिए। इस पर खट्टर ने मंच पर ही जवाब दे दिया कि कुछ लोगों को रात में सोने से पहले सोशल मीडिया पर मुख्यमंत्री बदलने का शौक होता है। खट्टर ने कहा कि बीजेपी से आने वाला कोई भी सीएम या पीएम लोगों के हित के लिए काम करेगा।

हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने रविवार को सोशल मीडिया की उन अटकलों का मजाक उड़ाया कि उन्हें "बदला" जा रहा है। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया के शौकीन लोगों को हर रात सोने से पहले मुख्यमंत्री बदलने का शौक होता है। राज्य स्तरीय 'भगवान परशुराम महाकुंभ' में मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए खट्टर ने कहा, "यह सीएम जा रहा है, वह जा रहा है और कल नया मुख्यमंत्री आएगा। नया सीएम आएगा या नहीं। आपको इससे मतलब नहीं होना चाहिए। आपको काम चाहिए, वो बीजेपी आपको दे रही है।" खट्टर ने कहा, "बीजेपी से आने वाला कोई भी सीएम या पीएम लोगों के हित में काम करेगा, यह हमारी विचारधारा का हिस्सा है, यह हमारी उपलब्धियों का हिस्सा है, यह हमारे घोषणापत्र का हिस्सा है।" और हम सामूहिक निर्णय लेते हैं।"

Related Articles

सोशल मीडिया की अफवाहों पर तंज
खट्टर ने कहा, "सोशल मीडिया में जो चल रहा है उससे इस तरह के फैसले नहीं लिए जाते हैं। लेकिन हां, ऐसे लोग हैं जो ऐसी चीजों से आनंद लेते हैं। उन लोगों से मैं कहना चाहता हूं कि जब आप ऐसा करते-करते थक जाएं तो आपको मेरे पास आना चाहिए।" मैं आपको कुछ काम करने के लिए कहूंगा..।" 

ब्राह्मण सीएम की मांग
उधर, कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रोहतक से बीजेपी सांसद अरविंद शर्मा ने कहा कि राज्य में अगला मुख्यमंत्री ब्राह्मण समुदाय से होना चाहिए। “मैं यह नहीं कह रहा कि खट्टर जी को बदल दिया जाए। वह अगले 10 साल तक सीएम बने रह सकते हैं, लेकिन यह मेरी निजी राय है और पार्टी आलाकमान से अनुरोध है कि खट्टर के बाद अगला सीएम ब्राह्मण समुदाय से होना चाहिए।” मुख्यमंत्री ने अरविंद शर्मा पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वह आभारी हैं कि वह उन्हें अगले 10 वर्षों के लिए हरियाणा के मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं। हरियाणा के मुख्यमंत्री ने ब्राह्मण समुदाय को खुश करने के प्रयास में कई रियायतों की घोषणा की और परशुराम जयंती पर राजपत्रित अवकाश भी घोषित किया। आरएसएस के पूर्व प्रचारक और करनाल से दूसरी बार विधायक रहे खट्टर को भाजपा ने राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में चुना था, जब वह 2014 में अपने दम पर हरियाणा में पहली बार सत्ता में आई थी।
 

KhabarBhoomi Desk-1

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button