उत्तर प्रदेश

यूपी में 20 जुलाई को चलने जा रहा महाअभियान, एक ही दिन में लगेंगे 36.46 करोड़ पौधे, सीएम योगी ने की समीक्षा

लखनऊ

ग्लोबल वार्मिंग के कारण लगातार मौसम में परिवर्तन देखने को मिल रहा है। कहीं इतनी बारिश हो रही है कि सड़क से रेल तक का संपर्क टूट जा रहा है। कहीं लोग बारिश को तरस रहे हैं। जो बारिश एक महीने में होनी चाहिए वह एक दिन में ही कहीं कही हो रही है।

यह सभी ग्लोबल वार्मिंग के कारण ही माना जा रहा है। ऐसे में विज्ञानी ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने पर जोर दे रहे हैं। यूपी की योगी सरकार भी 'पेड़ लगाओ-पेड़ बचाओ जन अभियान चलाने जा रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को अपने सरकारी आवास पर इस अभियान की समीक्षा की। इसी के तहत 20 जुलाई को पेड़ लगाने का रिकार्ड बनाने की तैयारी है।

सीएम योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व व मार्गदर्शन में 'एक पेड़ मां के नाम' अभियान को सफलतापूर्वक आगे बढ़ाया गया है। इस अभियान के तहत प्रदेश को इस वर्ष 36.46 करोड़ से अधिक का लक्ष्य मिला है। मुख्यमंत्री ने सभी संबंधित विभागों को निर्देश दिया कि आपसी समन्वय से इस लक्ष्य को हर हाल में आगामी 20 जुलाई को पूरा करें। उन्होंने मंत्रियों व विभागाध्यक्षों को दिशा-निर्देश भी दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश पर प्रकृति व परमात्मा की असीम कृपा है। यहां पौधरोपण अभियान अब जनांदोलन का स्वरूप ले चुका है। विगत छह वर्ष में यहां 168 करोड़ से अधिक पौधे रोपित किए जा चुके हैं। जिनमें 2017-18 में 5.72 करोड़, 2018-19 में 11.77 करोड़, 2019-20 में 22.60 करोड़, 2020-21 में 25.87 करोड़, 2021-22 में 30.53 करोड़, 2022-23 में 35.49, 2023-24 में 36.16 करोड़ पौधरोपण किए गए।

प्रदेश में 20 जुलाई को लगेंगे 36.46 करोड़ से अधिक पौधे
मुख्यमंत्री ने कहा कि एफएसआई रिपोर्ट के अनुसार उत्तर प्रदेश में 1.98 लाख एकड़ भूमि में हरित आवरण में वृद्धि हुई है। प्रदेश में आगामी 20 जुलाई को 36.46 करोड़ से अधिक पौधे लगेंगे। सभी मंत्री अपने प्रभार वाले जनपद में उपस्थित रहकर स्थानीय जनप्रतिनिधियों व आमजन के साथ मिलकर पौधरोपण करें।

इस कार्यक्रम में नोडल अधिकारी अपनी सक्रिय भूमिका का निर्वहन करें। पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन विभाग द्वारा 54.20 करोड़ पौधे तैयार किए गए हैं। इन पौधों के रोपण के साथ-साथ इनकी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जाएं। निर्देश दिए कि पौधरोपण स्थलों की जियो टैगिंग की जाए।

यूपी में 19918 सारस
कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने सारस की ग्रीष्मकालीन गणना-2024 की घोषणा की। उन्होंने बताया कि इस बार गणना में 19918 सारस पाए गए हैं। 2023 में यह संख्या 19522, 2022 में 19188 थी। उन्होंने पेड़ लगाओ-पेड़ बचाओ जनअभियान-2024 के लोगो का अनावरण भी किया। साथ ही उन्होंने वृक्षारोपण फ्लिप बुक का भी विमोचन किया।

हरित आवरण 15 फीसदी करने का लक्ष्य
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार का लक्ष्य प्रदेश के कुल हरित क्षेत्र को 2021-22 के 9.23 प्रतिशत से बढ़ाकर 2026-27 तक 15 प्रतिशत तक ले जाने का है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार 'कार्बन फाइनेंस' के माध्यम से कृषकों की आय में वृद्धि करने की दिशा में कार्य कर रही है। इसके लिए राज्य सरकार की ओर से किसानों को इंसेटिव भी प्रदान किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को सहजन का पौधा उपलब्ध कराएं और आंगनबाड़ी केंद्रों में सहजन का पौधा लगाया जाए। यह कुपोषण से बचाव में काफी कारगर साबित होता है।

 

KhabarBhoomi Desk-1

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button