मध्य प्रदेश

पिंग-पांग बाल से प्रेरणा लेते हैं सौम्यदीप सरकार

युवा टेबल टेनिस चेंपियन सौम्यदीप सरकार, खेलो इंडिया यूथ गेम्स के माध्यम से बनाना चाहते हैं बड़ा मुकाम

भोपाल

अंतर्राष्ट्रीय स्तर के पदक विजेता, राष्ट्रीय चेंपियन और कई सम्मान के विजेता सौम्यदीप सरकार 18 वर्ष के हैं। वे पश्चिम बंगाल से हैं और खेलो इंडिया गेम्स में भाग लेने के लिये इंदौर आये हैं।

Related Articles

सौम्यदीप सरकार ने 80वें राष्ट्रीय सब जूनियर टेबल टेनिस टूर्नामेंट में रजत पदक जीता है। चंडीगढ़ में राष्ट्रीय चेंपियनशिप में कांस्य पदक, सिलीगुड़ी में वर्ष 2016 और विजयवाड़ा में वर्ष 2017 में 63वीं राष्ट्रीय खेल चेंपियनशिप में कांस्य पदक जीता। सौम्यदीप सरकार को उनके माता-पिता ने 6 साल की उम्र में टेबल टेनिस से परिचित कराया था। उनके दादाजी एक अच्छे बैडमिंटन खिलाड़ी थे और सौम्यदीप के माता-पिता उन्हें टेबल टेनिस में अच्छा प्रदर्शन करते हुए देखने का सपना देखते थे। सौम्यदीप अपने पिता की बहुत प्रशंसा करते हैं, जिन्होंने सिखाया है कि सच्ची खेल भावना क्या है और एक व्यक्ति को ऊँचाइयों तक क्यों पहुँचना चाहिए। उन्हें अपने जीवन में कॅरियर के रूप में टेबल टेनिस को आगे बढ़ाने की प्रेरणा मिली है। उनका मानना था कि "टेबल टेनिस के लिए प्यार देखने के बजाय खेलते हुए ही आता है।" यह सौम्यदीप का चौथा खेलो इंडिया यूथ गेम है। पिछले खेलों इंडिया यूथ गेम्स में उन्होंने रजत पदक जीते हैं।

सौम्यदीप खेलो इंडिया के अपने अनुभव को साझा करते हुए पूरी तरह से उत्साहित हैं। क्योंकि वह लगातार चौथी बार भाग ले रहे हैं। उन्होंने बताया कि इस प्रकार के टूर्नामेंट एक खिलाड़ी को आगे बढ़ने में जबरदस्त मदद कर सकते हैं और इस प्रकार के मंच राष्ट्र मंडल खेलों, एशियाई खेलों और प्रमुख एवं अनिवार्य रूप से ओलंपिक की तैयारी का अवसर देते हैं। साथ ही खिलाड़ी को आत्म-विश्वास बढ़ाने और कौशल विकसित करने में मदद कर सकते हैं। खिलाड़ी को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए छात्रवृत्ति भी मिल सकती है।

सौम्यदीप को टेबल टेनिस ने अनुशासन, दृढ़ता, निरंतरता सिखाई है जो उन्हें सफलता की ओर ले जाती है। वह जहाँ भी जाते हैं उन्हें हमेशा सुर्खियाँ मिलती हैं। वह लगभग 8 से 9 घंटे प्रतिदिन अभ्यास कर रहे हैं और खुद को शारीरिक रूप से फिट रखने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं।

एक एथलीट के रूप में हमेशा सकारात्मक रहना, खुद को शारीरिक रूप से हमेशा फिट और स्वस्थ रखना कठिन होता है। इस तरह की चुनौतियों का सामना एथलीट को करना पड़ता है। स्वयं को उत्साही और दृढ़ रख कर वे हमेशा इन सभी चुनौतियों से पार पाने का प्रयास करते हैं। सौम्यदीप सरकार का मानना है कि – "एक पिंग पांग बॉल की तरह बनो"।

वह भविष्य के आकांक्षी के रूप में, सीनियर टेबल टेनिस खिलाड़ी बनने की इच्छा रखते हैं और देश को गौरवान्वित करना चाहते हैं। इस समय वे KIYG और फरवरी में होने वाली राष्ट्रीय चेंम्पियनशिप में भी इतिहास रचनें की योजना बना रहे हैं।

 

KhabarBhoomi Desk-1

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button