विदेश

अमेरिका में बर्फीले तूफान का कहर, 34 लोगों की मौत, 20 लाख घरों की बत्ती गुल, 5200 उड़ानें रद्द

न्यूयॉर्क

अमेरिका में बर्फीले तूफान के कहर की चपेट में आने से अब तक 34 से अधिक लोगों की मौत हो गई है। देश के अधिकतर राज्यों में खतरनाक तरीके से बर्फबारी हो रही है। तूफान की रफ्तार इस कदर है कि 20 लाख लोगों के घर की बिजली गुल हो गई है। इस बर्फीले चक्रवात के कारण 5200 उड़ाने रद्द कर दी गई  हैं। न्यूयॉर्क समेत कई प्रमुख शहरों में तापमान गिरकर -6°C तक पहुंच गया है।

सोमवार सुबह तक बंद हुआ हवाई अड्डा
न्यूयॉर्क प्रशासन का कहना है कि तूफान के कारण यहां के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को सोमवार सुबह तक के लिए बंद कर दिया गया है। वहीं, बचाव के लिए गए लगभग सभी दमकल ट्रक बर्फबारी में फंसे हुए हैं।


6.5 करोड़ लोगों को ब्लैआउट की चेतावनी
पूर्वी अमेरिका के एक प्रमुख बिजली ग्रिड ऑपरेटर ने 6.5 करोड़ लोगों को ब्लैकआउट की चेतावनी जारी की है। वहीं, पेंसिल्वेनिया स्थित पीजेएम इंटरकनेक्शन ने कहा कि बिजली संयंत्रों को ठंडे मौसम में काम करने में कठिनाई हो रही है और 13 राज्यों के निवासियों से कम से कम क्रिसमस की सुबह तक बिजली बचाने के लिए कहा गया है। टेनेसी वैली अथॉरिटी, जो टेनेसी और आसपास के छह राज्यों के कुछ हिस्सों में एक करोड़ लोगों को बिजली प्रदान करती है, ने स्थानीय बिजली कंपनियों को नियोजित रुकावटों को लागू करने का निर्देश दिया है।

 

न्यू इंग्लैंड में दो लाख से ज्यादा लोग बिना बिजली के
वहीं न्यू इंग्लैंड के छह राज्यों में 273,000 से अधिक लोग शनिवार को बिना बिजली के रहे। उत्तरी कैरोलिना में, 169,000 ग्राहक शनिवार दोपहर तक बिजली के बिना थे। अधिकारियों का कहना है कि ब्लैआउट कुछ दिनों तक जारी रहेगा

इस बर्फबारी के चलते  अमेरिका में  कई राजमार्गों को बंद कर दिया, उड़ानें बंद कर दीं और ये खतरनाक मौसम क्रिसमस यात्रियों के लिए भी परेशानी का सबब बन गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, अमेरिका की 70 फीसदी आबादी मौसम की चेतावनी के दायरे में है। नेशनल वेदर सर्विस( NWS) ने अलर्ट जारी किया है।

अमेरिका में कई सड़कें बंद
इस बर्फबारी के चलते  अमेरिका में  कई राजमार्गों को बंद कर दिया, उड़ानें बंद कर दीं और ये खतरनाक मौसम क्रिसमस यात्रियों के लिए भी परेशानी का सबब बन गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, अमेरिका की 70 फीसदी आबादी मौसम की चेतावनी के दायरे में है। नेशनल वेदर सर्विस( NWS) ने अलर्ट जारी किया है।

बता दे कि तूफान ने बुफालो, न्यूयॉर्क में ज्यादा तबाही मचायी है. साथ ही बर्फीली हवाएं भी चली. आपात प्रतिक्रिया के प्रयास बाधित हुए और शहर का अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा भी बंद कर दिया गया है. अमेरिका में अधिकारियों ने मौत की वजह तूफान की चपेट में आने, कार दुर्घटना, पेड़ गिरने और तूफान के अन्य असर को बताया है. तूफान के वजह से बिजली आपूर्ति बाधित होने से कई इलाकों, घरों और व्यावसायिक प्रतिष्ठानों की बत्ती गुल हो गयी है. लाखों लोगों के अंधेरे में रहने का खतरा पैदा हो गया है. घरों, वाहनों पर बर्फ की मोटी परत बिछ गई है. तेज हवाओं की वजह से कई जगहों पर पेड़ गिर गए और बिजली लाइन को भी नुकसान पहुंचा है.

तूफान की वजह से काफी विस्तृत क्षेत्र कनाडा के पास ग्रेट लेक्स से मैक्सिको की सीमा से लगे रियो ग्रांडे तक प्रभावित हुआ है. राष्ट्रीय मौसम सेवा ने कहा कि मौसम संबंधी सलाह या चेतावनी के दायरे में अमेरिका की लगभग 60 प्रतिशत आबादी है और रॉकी माउंटेन के पूर्व से एपलाचियन तक तापमान सामान्य से काफी नीचे गिर गया है.

विमानों की आवाजाही पर नजर रखने वाली वेबसाइट ‘फ्लाइटअवेयर’ के मुताबिक  बर्फीले चक्रवात के कारण 5200 उड़ाने रद्द कर दी गई  हैं. न्यूयॉर्क समेत कई प्रमुख शहरों में तापमान गिरकर -6°C तक पहुंच गया है. तूफान ने न्यूयॉर्क के बुफालो में सबसे ज्यादा तबाही मचायी है. लोगों तक पहुंचने के लिए आपात प्रतिक्रिया विभाग का अभियान भी बाधित हुआ है. बर्फ की मोटी परत बिछी होने के कारण शहर का अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा भी बंद कर दिया गया है. रविवार की सुबह से ही हवाई अड्डे पर 43 इंच बर्फ जमी हुई थी. एंबुलेंस को पहुंचने में भी देरी हो रही है. एरी काउंटी के अधिकारी के अनुसार अस्पताल पहुंचने में एंबुलेंस को तीन घंटे से ज्यादा वक्त लग रहा है.

वहीं चीकटोवागा, न्यूयॉर्क में दो लोगों की मौत हो गई. ओहायो में तूफान से जुड़ी विभिन्न घटनाओं में 10 लोगों की मौत हो गई. ओहायो में सड़क पर एक जगह करीब 50 गाड़ियां टकरा गईं. वहीं, एरी काउंटी, न्यूयॉर्क में विभिन्न दुर्घटनाओं में सात लोगों की मौत हो गई. मिसूरी और कंसास में अलग-अलग जगहों पर चार लोगों की मौत हो गई.

KhabarBhoomi Desk-1

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button