देश

RPSC paper leak case: मास्टर माइंड समेत 55 अरेस्ट, जानिए पेपर लीक की ‘अनंत कथा’

 जयपुर 
राजस्थान की उदयपुर पुलिस ने सेकंड ग्रेड टीचर भर्ती परीक्षा में नकल गिरोह का पर्दाफाश कर मास्टरमाइंड समेत 55 लोगों को गिरफ्तार कर उनके विरुद्ध दो मुकदमे दर्ज किए हैं। हाल ही में आयोजित हो रही द्वितीय श्रेणी भर्ती परीक्षा के सम्बन्ध में शुक्रवार को उदयपुर एसपी विकास शर्मा को सूचना मिली कि  सेकंड ग्रेड टीचर भर्ती परीक्षा में नकल गिरोह द्वारा अवैध तरीके से परीक्षा के पेपर प्राप्त कर परीक्षार्थियों से लाखों रूपये प्राप्त कर उनको परीक्षा से कुछ समय पूर्व उपलब्ध करवा हाथों हाथ पेपर को हल करवा कर परीक्षा दिलवाई जा रही है। सूचना विश्वसनीय होने से उन्होंने अपने पर्यवेक्षण में इन अपराधियो को रंगे हाथो पकडने के लिये अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनजीत सिंह को निर्देश दिए।  इस पर शहर के थानाधिकारियों व डीएसटी द्वारा खुफिया जानकारी प्राप्त की गई तो सामने आया कि नकल गिरोह परीक्षा से पूर्व परीक्षार्थियों को एक बस में लेकर जायेगा व बस में ही पेपर प्राप्त होने पर परीक्षार्थियो को हल करवायेगा एवं उसके बाद परीक्षार्थियों को उदयपुर में छोड दिया जाएगा। सूचना पर एएसपी मनजीत सिंह के नेतृत्व में सीओ अभिषेक शिवहरे, एसएचओ संजय शर्मा, रामसुमेर मीणा, दलपत सिंह, हनुवन्त सिह सोढा, योगेन्द्र व्यास, एएसआई राजेश मेहता व डीएसटी टीम के द्वारा शहर एवं जिले में निगरानी शुरू की गई।

पुलिस ने किया था टीमों का गठन

डीएसटी टीम को इसी दौरान सूचना मिली कि एक बस में सुखेर क्षेत्र में युवकों को बिठाकर पेट्रोल पम्प पर डीजल भरवाया गया, वहां से कुछ अन्य युवा लोगों को बिठाकर गोगुन्दा हाईवे की तरफ रवाना हुए है। संदिग्ध बस का गोगुन्दा हाईवे पर पीछा करने हेतु तीन अलग-अलग टीमों का गठन कर रवाना किया। एएसपी मनजीत सिंह द्वारा शहर के थानाधिकारियों को भी गोगुन्दा हाईवे पर विभिन्न स्थानो पर छुपाव लेकर नाकाबन्दी के निर्देश दिये। इस सूचना के सम्बंध में आगे सीओ राजेश कसाना व एसएचओ बेकरिया मुकेश को भी सूचित किया गया। इस पर उनके द्वारा भी निगरानी शुरू की गई। निगरानी कर रही टीम द्वारा सूचना दी गई कि बस सिरोही जिले में प्रवेश कर गई है ओर उदयपुर की तरफ आ रही है। सूचना पर एएसपी मनजीत सिंह मय टीम द्वारा अलसुबह पिण्डवाडा से उदयपुर की तरफ आई संदिग्ध बस को बेकरीया थाने के बाहर रुकवाया गया। बस को चैक किया गया तो बस के अंदर की लाईट चालू थी, बाहरी शीशों के परदे लगे हुए थे।

कड़ाई से पूछताछ पर किए खुलासे 

एसपी विकास शर्मा ने बताया कि मास्टरमाइंड सुरेश कुमार से कडाई से पूछताछ करने पर उसने बताया कि इनके साथी उदयपुर में सुखेर के पास एक होटल में कुछ परीक्षार्थियों को पेपर हल करवा रहे है। जिस पर थानाधिकारी सुखेर संजय शर्मा द्वारा थाने पर तुरन्त सूचित कर पुलिस टीम द्वारा शनिवार प्रातः दबिश दी गई तो होटल हिमांशी में कुछ व्यक्ति कमरे किराये पर लेकर रहकर परीक्षा से पूर्व पेपर उपलब्ध करवा पेपर हल करवाते पाये गये। वहां पर भी 10 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया जाकर प्रकरण सं 747/22 पुलिस थाना सुखेर दर्ज किया गया। बस में तत्समय हेड मास्टर राजस्थान प्रवेशिका, संस्कृत विद्यालय ठेलीया, चितलवाना, जालोर सुरेश कुमार पुत्र जगदीश विश्नोई (31) निवासी रिढीया धोरा पोस्ट गुढा हेमा तहसील चितलवाना थाना झाय जिला जालोर मिला। जिनके द्वारा बस में बैठे परीक्षार्थियों को एक-एक पेपर की फोटो प्रति उपलब्ध करा रखी थी व उन प्रश्न पत्रो में अंकित सवालो को हल करवा रहा था। इस कार्य में भजन लाल पुत्र मोहन लाल विश्नोई (22) निवासी पुर तहसील सांचोर थाना सांचोर जिला जालोर हाल एमबीबीएस तृतीय वर्ष बीआईएमएस बैलगांय कर्नाटक व रायता राम पुत्र पूनमा राम चौधरी (28) निवासी हरियाली थाना सांचोर जिला जालोर तत्समय सैकण्ड ग्रेड अध्यापक राजकीय माध्यमिक विद्यालय थाना जसवन्त पुरा जिला जालोर उसकी मदद कर रहे थे। बस में सभी परीक्षार्थियों के पास पेपर थे। सभी से मिले दस्तावेजों को जब्त किया। वाहन के चालक नरेश व मालिक पीराराम द्वारा भी उक्त कृत्य में संलिप्त पाये गये। इस घटना पर प्रकरण संख्या 227/22  थाना बेकरिया में दर्ज किया गया। 

KhabarBhoomi Desk-1

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button