मध्यप्रदेश

राजस्व अधिकारियों की समीक्षा बैठक

नई ऊर्जा और संकल्प से पात्रों को लाभान्वित करें: कलेक्टर
व्यक्तियों की समस्याओं का निदान संवेदना से करें
मैदानी कर्मचारियों से आपसी तालमेल बेहतर बनाएं
छतरपुर

कलेक्टर संदीप जीआर ने छतरपुर जिले के राजस्व अधिकारियों की गुरुवार को हुई समीक्षा बैठक में निर्देश दिये कि मैदानी अंचलों के अधिकारी-कर्मचारी नई ऊर्जा और संकल्प से समाज के गरीब एवं अंतिम छोर के पात्र व्यक्तियों सहित दिव्यांगजनों को शासकीय कार्यक्रमों एवं योजनाओं का लाभ दिलाये तथा उनकी समस्याओं का संवेदना से निदान करें और अनुविभाग के अधिकारी कर्मचारियों के साथ आपसी तालमेल को बेहतर बनाये। सर्विस डिलेवरी को तत्परता से दें। उन्होंने कहा कि राजस्व अधिकारी भूमि से जुड़े प्रकरणों में सुधार कर रहे किसी की ऑर्नरशिप दर्ज नहीं कर रहे है, इसे ध्यान में रखते हुये कार्य करें। तहसील में आने वाले व्यक्ति की समस्या के आवेदन के निदान उसी दिन टेबल पर आये, ऐसी व्यवस्था बनाएं। बैठक में अपर कलेक्टर सहित एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार और अधीक्षक भू-अभिलेख उपस्थित रहे।

कलेक्टर ने निर्देश दिये कि सीमांकन कार्य के लिये टीएसएम मशीन का टाइम टेबल तय करें और मशीन के संचालन हेतु पटवारियों का दक्षता प्रशिक्षण कार्यक्रम करें। सीमांकन कार्य प्रातः 8 बजे से शुरू करें। प्रतिदिन चलेन वाली मशीन का रिपोर्टिंग डाटा तैयार करंे और पटवारी निर्धारित ग्रामों में जाएं, तहसीलदार देखें।

एसडीएम एवं तहसीलदार कोर्ट में निराकृत हो सकने वाले आवेदनों का त्वरित निराकरण करें और केस की ग्रहायता पर ही परीक्षण करते हुये पात्र प्रकरणों की सुनवाई करें। जो केस ग्रहायता नहीं हो सकते है उन्हें निरस्त करें।

Related Articles

प्रकरणों के निराकरण हेतु ट्रांजिट कोर्ट शुरू करें
राजस्व प्रकरणों की समीक्षा में कलेक्टर ने निर्देश दिये कि प्रकरणों के त्वरित निराकरण हेतु ऐसे ग्रामीण अंचलों जहां अधिक प्रकरण लंबित है वहां ट्रांजिट कोर्ट शुरू करें। इस कोर्ट में दोनों पक्षों को बुलाये। लोअर कोर्ट में लंबित राजस्व प्रकरणों के लिये संबंधित कोर्ट के रीडर के साथ एसडीएम चर्चा कर प्रभावी व्यवस्था बनाये। नामांकन प्रकरणों के निराकरण हेतु ग्रामीण क्षेत्रों में कैंप लगाये। निचली कोर्ट से एसडीएम कोर्ट में भेजे जाने वाले केस 2-4 दिवस में तुरंत भेजे। फरवरी माह में नक्शा तरबीन के लिये विशेष कैंप लगाना सुनिश्चित करें।

नामांकन प्रकरणों को कोर्ट में लंबित न रखें, अच्छे मन से एवं नियम के साथ प्रकरणों का निराकृत त्वरित करें। राजस्व वसूली पर सजगता से ध्यान दें। आरबीसी 6-4 के प्रकरणों में गंभीरता बरते, अनावश्यक डिले न रखे। अनुकंपा नियुक्ति से संबंधित प्रकरणों का तुरंत निराकरण करें। कर्मचारियों का माह की पहली तारीख को वेतन दिलाये और स्वयं का वेतन उसके बाद लें।

कलेक्टर ने दो टूक शब्दों में निर्देशित करते हुए कहा कि राजस्व अधिकारी द्वारा जारी किये गये आदेशों अनुपालन तुरंत कराये। अनुपालन नहीं कराना गंभीर त्रुटि होगी। आगामी आरओ बैठक में समीक्षा होगी। कितने आर्डर जारी किये और कितने आर्डर पर अमल हुआ। सीएम नगरीय एवं ग्रामीण आवास शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता की योजना है इसे गंभीरता से क्रियान्वित करें, किसी भी स्तर से लापरवाही नहीं बरते। प्राप्त आवेदन का त्वरित परीक्षण करें। जो प्रकरण एडीएम कोर्ट में लंबित उनका त्वरित निराकरण कराये। बेघर एवं आवासहीन पात्र व्यक्तियों को पात्रता के आधार पर सकारात्मक दृष्टिकोण रखते हुए लाभ दिलाये। जिन ग्रामों के हितग्राही के आवेदन प्राप्त हुये है वहां तहसीलदार पटवारी ग्राम के लोगों से चर्चा करते हुये पात्र एवं सबसे गरीब लोगों को पहले लाभान्वित कराएं।

 

KhabarBhoomi Desk-1

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button