देश

ओडिशा भीषण ट्रेन हादसे की क्या थी वजह? रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बताया

भुवनेश्वर
ओडिशा भीषण ट्रेन हादसे के भयानक मंजर से देशभर में शोक की लहर है। खबर लिखे जाने तक हादसे में मरने वालों की संख्या 280 पार कर गई है और 900 से ज्यादा लोग अभी भी जख्मी हैं। इस हादसे में युद्ध स्तर पर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है। स्थानीय फोर्स के अलावा आर्मी और वायुसेना भी राहत-बचाव कार्य में जुटी है। वायुसेना के हेलिकॉप्टों की मदद से घायलों को एयरलिफ्ट किया जा रहा है। शनिवार सुबह रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने मौके पर पहुंचकर रेस्क्यू ऑपरेशन की प्रगति जानी। उन्होंने पत्रकारों से बातचीत भी की। बताया कि भीषण रेल हादसे के पीछे की वजह अभी स्पष्ट नहीं हो पाई है। इसके लिए इन्क्वायरी कमेटी का गठन किया जा चुका है। क्या यह भीषण रेल एक्सीडेंट हादसा था या साजिश? इस पर रेल मंत्री क्या बोले, जानते हैं

ओडिशा के बालासोर इलाके में हुए भीषण ट्रेन हादसे में शुक्रवार रात से रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है। दो पैसेंजर ट्रेनों और एक मालगाड़ी के बीच भीषण टक्कर के बाद 10 से ज्यादा बोगियां पटरी से उतर गई। दिल दहला देने वाले इस भयावह हादसे में मरने वालों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। खबर लिखे जाने तक इस हादसे में 280 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। जबकि, 900 से ज्यादा घायल हैं। स्थानीय पुलिस, प्रशासन के साथ एनडीआरएफ और आर्मी के जवान रात से राहत बचाव कार्य में जुटे हैं। सुबह से वायुसेना भी रेस्क्यू ऑपरेशन में उतर चुकी है।

शनिवार सुबह रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने घटनास्थल पहुंचकर रेस्क्यू ऑपरेशन की प्रगति जानी। उन्होंने पत्रकारों से बातचीत भी की। कहा कि हादसे में घायलों और मृतकों के परिजनों को मुआवजे का ऐलान किया जा चुका है। युद्ध स्तर पर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है। रेल मंत्रालय, केंद्र और राज्य सरकारें तीनों अपने स्तर पर घायलों को हर संभव मदद मुहैया करा रहे हैं।

Related Articles

वजह क्या थी?
रेल मंत्री से पूछा गया कि इस भीषण रेल हादसे की वजह क्या थी? इस पर उन्होंने कहा कि अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है, लेकिन, रेल मंत्रालय की तरफ से इस मामले में इन्क्वायरी कमेटी का गठन किया जा चुका है। कमेटी पूरे मामले पर निगरानी रखे हुए है। जो भी इस हादसे का गुनाहगार होगा, उसे बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि वे खुद इस मामले की तह तक जाएंगे और नतीजा सामने नहीं आने तक चुप नहीं रहेंगे।

साजिश या हादसा?
रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से पूछा गया कि यह हादसा था साजिश? जवाब में रेल मंत्री ने कहा कि पहले हमे मानवीय संवेदनाओं का सम्मान करना होगा। अभी इस मामले में वे कुछ नहीं कह सकते। इन्क्वायरी कमेटी का गठन किया जा चुका है। जब तक इस मामले में कमेटी की रिपोर्ट नहीं आ जाती, वे ज्यादा कुछ नहीं कह पाएंगे।

 

KhabarBhoomi Desk-1

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button