मध्यप्रदेश

करणी सेना के जिलाध्यक्ष को सीने में दो गोलियां मार की हत्या, प्रॉपर्टी विवाद की आशंका

इंदौर.

इंदौर के कनाड़िया इलाके में बुधवार देर रात करणी सेना के पदाधिकारी मोहित सिंह पटेल की रिवॉल्वर की गोली लगने से मौत हो गई। घटना कनाड़िया रोड पर बुधवार देर रात करीब 12.30 बजे की है। मोहित को सीने में दो गोलियां लगी हैं। ये गोलियां लाइसेंसी रिवॉल्वर से मारी गई हैं।

पुलिस के मुताबिक प्रॉपर्टी विवाद की आशंका है। फेसबुक प्रोफाइल पर मोहित का कार्यकारी जिलाध्यक्ष होना सामने आया है। मृतक की कार पर भी करणी सेना अध्यक्ष की प्लेट लगी हुई मिली है।

डीसीपी जोन-2 अभिषेक आनंद के मुताबिक घटना कनाड़िया थाना क्षेत्र स्थित बायपास (सेवाकुंज अस्पताल के पास) की है। मृतक का नाम कुं. मोहितसिंह पुत्र दिलीपसिंह पटेल निवासी बिसनखेड़ा है। रात करीब 11 बजे पुलिस को सूचना मिली थी कि मोहित को स्वजन और दोस्त बाम्बे अस्पताल लेकर आए है।

कनाड़िया पुलिस के मुताबिक मोहितसिंह पटेल पुत्र दिलीपसिंह पटेल निवासी बिसनखेड़ा को अज्ञात ने सेवाकुंज अस्पताल के पास गोली मार दी। मोहित परिवार का इकलौता बेटा था। घटना के बाद वहां पहुंचे दो दोस्त ही उसे बॉम्बे हॉस्पिटल लेकर पहुंचे। डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

पुलिस ने मामला संदिग्ध मानते हुए उसे जांच में लिया है। पुलिस ने कहा कि जल्द ही हत्यारों का खुलासा कर दिया जाएगा। पुलिस ने इस मामले में इन दोनों दोस्तों सहित चार को हिरासत में लिया है। चारों से पूछताछ की जा रही है। मोहित की पांच साल पहले शादी हो चुकी है।

खुद भी रिवाल्वर लेकर घूमता था मोहित

मोहित पटेल का प्रॉपर्टी को लेकर विवाद चल रहा था। पुलिस का मानना है कि मोहित की मौत के पीछे संभवत: प्रॉपर्टी विवाद हो सकता है। हालांकि पुलिस सुसाइड वाले एंगल पर भी जांच कर रही है। हत्या की सूचना मिलने पर मोहित के परिवार के लोग भी सीधे बॉम्बे हॉस्पिटल पहुंचे।

परिवार के मुताबिक मोहित घर से निकला तब अपने दोस्त को साथ ले जाने का कहकर निकला था। लेकिन पुलिस ने जिन दो दोस्तों को हिरासत में लिया है उनका कहना है कि मोहित ने हमें फोन करके बायपास पर आने के लिए कहा था। हम वहां पहुंचे तब तक मोहित की गोली लगने से मौत हो चुकी थी।

मोहित की फेसबुक प्रोफाइल से खुलासा हुआ है कि वह भाजपा नेताओं से जुड़ा था। वह दबंग अंदाज में अपने फोटो और मैसेज अपलोड करता था। वह अपने साथ रिवॉल्वर भी रखता था, कई तस्वीरों से यह खुलासा हुआ है।

दो दोस्तों को बायपास पर बुलाया था, पहुंचने के पहले ही मार दी गोली

देर रात एसीपी जयंत राठौर, टीआई जेपी जमरे सहित एफएसएल अधिकारी भी बॉम्बे हॉस्पिटल पहुंचे। पुलिस के मुताबिक मोहित सिंह राजपूत करणी सेना में जिला कार्यकारी अध्यक्ष था। वह खेती के साथ प्रॉपर्टी का काम भी करता था। एसीपी जयंत राठौर के मुताबिक मोहित ने दोस्त आकाश व अंशुल आदि को कॉल कर बाइपास पर बुलाया था। फिलहाल पुलिस ने इन दोनों दोस्तों सहित चार को हिरासत मे ले लिया है। चाराें से पूछताछ की जा रही है।

पूछताछ में अंशुल व आकाश ने बताया कि हम मोहित की बुलाई जगह पर पहुंचे तो मोहित ड्राइवर सीट पर पड़ा हुआ था। कार के कांच लगे हुए थे। रिवाल्वर भी रखी थी। गोली मारी गई या खुद ने मारी यह कहना मुश्किल है। गोलियां नजदीक से लगी है यह स्पष्ट हो गया है। पुलिस ने रिवाल्वर और कार जब्त कर ली है।

 

KhabarBhoomi Desk-1

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button