विदेश

खुलासा : उत्‍तर कोरिया की अगली तानाशाह महिला होगी, किम जोंग उन का नहीं है कोई बेटा

प्‍योंगयांग
उत्‍तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग अपने परमाणु बमों से दुनिया को डरा रहे हैं। अक्‍सर उनके स्‍वास्‍थ्‍य को लेकर सवाल उठते रहते हैं। किम जोंग पिछले कुछ महीने से अपनी बेटी किम जू एई के साथ अक्‍सर दिखाई दे रहे हैं। फिर चाहे महाविनाशक मिसाइलों का परीक्षण हो या फिर सालाना परेड। इस बीच उत्‍तर कोरियाई तानाशाह के बचपन के दोस्‍त जोआओ मिकाइलो ने एक आश्‍चर्यजनक खुलासा करते हुए इस बात पर संदेह जताया है कि किम जोंग उन का कोई बेटा है।

जोआओ का दावा है कि उन्‍होंने स्विटजरलैंड में तानाशाह किम जोंग उन के साथ पढ़ाई की है। उन्‍होंने संदेह जताया है कि किम जोंग उन का कोई बेटा भी है। जोआओ ने कहा कि निजी बातचीत के दौरान उत्‍तर कोरियाई तानाशाह ने कभी भी अपने एक बेटे के बारे में जिक्र नहीं किया। इस खुलासे के बाद अब अटकलें तेज हो गई हैं कि किम जोंग उन अपने बाद किसे सत्‍ता सौपेंगे। उत्‍तर कोरिया बहुत ही रहस्‍यमय देश है और एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में नेतृत्‍व सौंपा जाता रहा है।

किम जोंग उन के साथ अक्‍सर नजर आ रही बेटी

किम जोंग उन के सहपाठी जोआओ ने कहा कि उत्‍तर कोरियाई नेता खुलकर अपनी बेटी के बारे में चर्चा करते हैं जिसके साथ वह अक्‍सर सार्वजनिक रूप से दिखाई देते हैं। उन्‍होंने अपने किसी पुरुष उत्‍तराधिकारी जिक्र नहीं किया है। जोआओ ने कहा कि उन्‍होंने साल 2012 और साल 2013 में उत्‍तर कोरिया की यात्रा की थी और किम जोंग उन से मुलाकात की थी। किम जोंग उन इन दिनों अक्‍सर अपनी बेटी किम जू एई के साथ नजर आ रहे हैं। किम जू की उम्र 10 से 12 साल के बीच बताई जा रही है।

इससे यह अटकलें तेज हो गई हैं कि किम जोंग उन अपनी बेटी को उत्‍तराधिकारी बनाने के लिए अभी से उसे तैयार कर रहे हैं। उत्‍तर कोरिया में लंबे समय से किसी पुरुष के ही नेता बनने की परंपरा रही है। किसी महिला के उत्‍तराधिकारी नहीं बनने की वजह से यह अटकलें तेज हो गई थीं कि किम जोंग उन के बाद उनका उत्‍तराधिकारी कौन व्‍यक्ति होगा। दक्षिण कोरिया के खुफिया सूत्रों ने इससे पहले दावा किया था कि किम जोंग उन के तीन बच्‍चे हैं लेकिन उसने यह भी कहा था कि उसके पास ठोस सबूत नहीं हैं।
 

 

 

KhabarBhoomi Desk-1

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button