उत्तर प्रदेश

अब्बास अंसारी के करीबी की शिकायत करने वाला ही गायब, भाजपा नेता को खोज रही पुलिस

 लखनऊ 

मुख्तार अंसारी के पुत्र अब्बास के करीबी की शिकायत करने वाले भाजपा नेता को पुलिस ढूंढ़ रही है। मऊ के भाजपा नेता ने गंभीर आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री से अब्बास के करीबी की शिकायत की थी। इसी शिकायत पर जांच हुई लेकिन आरोप गलत मिला। जब बयान के लिए शिकायतकर्ता से सम्पर्क साधने का प्रयास किया गया तो वह मिला ही नहीं। पुलिस अब शिकायतकर्ता को तलाश रही है। पुलिस ने अपनी रिपोर्ट में यह भी कहा है कि इसके पूर्व भी छद्म नाम से शिकायत की गई है।

लब्बोलुआब यह कि मुख्तार के नाम पर कई अलग अलग नाम से एक व्यक्ति की शिकायत की गई। जब शिकायतकर्ताओं को ढूंढ़ा गया तो उनका कोई अतापता ही नहीं मिला। इस मामले में शिकायतकर्ता सर्वेश सिंह उर्फ गप्पू ने खुद को भारतीय जनता पार्टी मऊ इकाई का सदस्य बताया है। अपनी शिकायत में गप्पू ने अब्बास अंसारी को शरण देने वाले तबरेज उर्फ राशिद फारुकी के विरुद्ध कार्रवाई कर शस्त्र लाइसेंस निरस्त करने की मांग की। पुलिस कमिश्नर ने इसकी जांच अपर पुलिस आयुक्त मध्य राजेश कुमार श्रीवास्तव को सौंपी। अपर पुलिस आयुक्त ने एसीपी हजरतगंज अरविंद कुमार वर्मा, एसएचओ गौतमपल्ली सुधीर कुमार अवस्थी, वरिष्ठ उप निरीक्षक हजरतगंज दयाशंकर द्विवेदी की जांच टीम गठित की। इस टीम ने अपनी रिपोर्ट भेजी है।

इसमें कहा गया कि मो. शम्स तबरेज मूल रूप से ग्राम व पोस्ट कईरियापुर, थाना मुहम्मदाबादमऊ का निवासी है। मौजूद समय वह बीसीसी रेजीडेंसी लालबाग लखनऊ में निवास कर रहा है। यहा शम्स तबरेज ने 45 लाख रुपये में फ्लैट लिया। शम्स तबरेज के पास एक लाइेंसी रिवाल्वर है जिसका लाइसेंस जिलाधिकारी मऊ ने बनाया है। पुलिस ने पाया कि आरोप लगाने वाले ने शिकायत में सिर्फ अपना नाम दिया है। कोई पता या सम्पर्क नम्बर नहीं है जिनके सहारे उससे पूछताछ की जा सके। जांच में यह भी पता चला कि पूर्व में भी गलत नाम पते से शम्स तबरेज के खिलाफ शिकायत की गई है। जांच में यह भी सामने आया कि शम्स तबरेज का कोई आपराधिक इतिहास नहीं मिला। अपर पुलिस आयुक्त मध्य ने आरोपी की निगरानी किए जाने की बात कही है। साथ ही डीएम लखनऊ को भी इत्तिला दी है। 

KhabarBhoomi Desk-1

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button