उत्तर प्रदेश

यूट्यूब से सीखा अमीर बनने का तरीका, कर्ज में डूबा तो छापने लगा नकली नोट, रौनक ने उगले कई राज

नकली नोटों की छपाई का धंधा करने वाले सरगना रौनक ने काफी कुछ राज उगले हैं। भारी कर्ज हो जाने के बाद उसने यूट्यूब पर शार्टकट से अमीर बनने के तरीकों की तलाश शुरू की। इसके बाद उसने नोटों की छपाई का काम शुरू कर दिया। आनलाइन शुरू हुए इस कारोबार को जैसे जैसे वह आगे बढ़ाने लगा लोग उससे जुड़ते गए और उसने एक बड़ा गैंग खड़ा कर लिया।

जीआरपी के हाथ लगे जाली नोटों की छपाई करने वाले सरगना रौनक ने पूछताछ में कई अहम राज उगले हैं। उसने बताया कि जब उस पर करीब चार करोड़ रुपये का कर्जा हो गया तो उसने यूट्यूब पर शार्टकट से अमीर बनने के रास्ते तलाश करने शुरू कर दिए। तभी उसे यूट्यूब पर बृजेश मोर्या के बारे में पता चला, जिसे पुलिस ने नकली नोटों के साथ गिरफ्तार किया था। उसने यूट्यूब के माध्यम से ही बृजेश मोर्या का मोबाइल नंबर तलाश कर लिया और फिर उससे बात की। 

बृजेश बनारस में रौनक से पहुंचा और नकली नोट छाप कर शार्टकट से अमीर बनने का सपना उसे दिखाया। इसके लिए बृजेश ने करीब आठ से दस-लाख रुपये का खर्च बताया। पहले से कर्ज में डूबे रौनक ने फाइनेंस करने वाले की तलाश शुरू की। उसने अपने मित्र आर्टिफिशल ज्वैलरी का काम करने वाले दीपक से संपर्क किया। दीपक इसके लिए तैयार हो गया। बृजेश ने जाली नोटों का सेटअप तैयार कराना शुरू कर दिया। हरियाणा में रहने वाले सचिन वर्मा ने नोटों की छपाई में काम आने वाली मशीनों की जुगाड़ कराना शुरू कर दिया। बृजेश ने ही रौनक का परिचय पश्चिम बंगाल के मालदा में रहने वाले गैंग के सदस्यों से कराया था।

Related Articles

कोटा में भी आरोपियों की तलाश
जाली नोटों के कारोबार से जुड़े तारों की तलाश में जीआरपी की एक टीम राजस्थान के कोटा गई हुई है। यही टीम राजस्थान के जोधपुर भी जाएगी। जीआरपी से जुड़े सूत्रों का कहना है कि कोटा और जोधपुर में रहने वाले आरोपियों के घर की तलाशी ली जाएगी। उनके घरों पर नकली नोटों की खेप या उससे जुड़ी चीजें मिल सकती है। कोटा पहुंची टीम का नेतृत्व जीआरपी प्रभारी निरीक्षक विकास सक्सेना द्वारा किया जा रहा है। एसपी रेलवे मो. मुश्ताक ने बताया कि गिरोह के फरार सदस्यों को पकड़ने के लिए टीमें राजस्थान, हरियाणा आदि प्रदेशों में लगातार दबिशें दे रही हैं।

फरार आरोपियों पर घोषित होगा इनाम
नकली नोटों का कारोबार करने वाले गिरोह के सभी फरार सदस्यों की गिरफ्तारी पर इनाम घोषित किया जाएगा। इस बारे में जानकारी देते हुए एसपी रेलवे मो. मुश्ताक ने बताया कि गिरोह के जो लोग भी फरार हैं उनके पते आदि की जानकारी जुटाई जा रही है। सभी नाम पते सत्यापित हो जाने के बाद उनकी गिरफ्तारी पर इनाम घोषित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि नोटों के सैंपलों को जांच के लिए नासिक भेजा गया है।

आरोपियो को रिमांड पर लेगी पुलिस
जीआरपी की गिरफ्त में आए नकली नोटों के कारोबारियों को रिमांड पर लेने की तैयारी शुरू कर दी गई है। एसपी रेलवे मो. मुश्ताक ने बताया कि जेल भेजे जा चुके आरोपियों का पुलिस कस्टडी रिमांड लिया जाएगा। सभी आरोपियों को एक साथ बैठाकर उनसे पूछताछ की जाएगी। अब तक सभी से अलग अलग पूछताछ की गई है। एक साथ बैठकर पूछताछ में और भी राज खुल सकते हैं। उन्होंने बताया कि मामला राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा होने के कारण एनआईए को भी इस बारे में सूचित कर दिया गया है। संभव हुआ तो इसकी जांच एनआईए को सौंपने के लिए उच्चाधिकारियों से पत्राचार किया जाएगा।
 

KhabarBhoomi Desk-1

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button