बाज़ार

पाकिस्तान में महंगाई रिकॉर्ड 37.97% पर पहुंची, राजनीतिक के साथ आर्थिक संकट की गिरफ्त में पड़ोसी

इस्लामाबाद
पाकिस्तान की वार्षिक मुद्रास्फीति मई में साल-दर-साल रिकॉर्ड 37.97 फीसद हो गई। गुरुवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक साल-दर-साल आधार पर सबसे अधिक वृद्धि मादक पेय और तंबाकू की श्रेणियों में 123.96 फीसद, मनोरंजन और संस्कृति में 72.17 फीसद और परिवहन में 52.92 फीसद दर्ज की गई।

पाकिस्तान वर्तमान में एक बड़े राजनीतिक और साथ ही आर्थिक संकट की गिरफ्त में है, उच्च विदेशी ऋण, एक कमजोर स्थानीय मुद्रा और घटते विदेशी मुद्रा भंडार से जूझ रहा है। मुद्रास्फीति को उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI) नामक उत्पादों और सेवाओं की एक बास्केट के आधार पर मापा जाता है, जिसमें वस्तुओं को अलग-अलग वेटेज वाले 12 प्रमुख घटकों में विभाजित किया जाता है।

आलू से आटा तक पहुंच से बाहर
खाद्य समूह में पिछले वर्ष की तुलना में मई में जिन वस्तुओं की कीमतों में सबसे अधिक वृद्धि हुई, उनमें सिगरेट, आलू, गेहूं का आटा, चाय, गेहूं और अंडे और चावल शामिल हैं। गैर-खाद्य श्रेणी में किताबें, स्टेशनरी, मोटर ईंधन, कपड़े धोने के साबुन, डिटर्जेंट और माचिस की कीमतों में सबसे अधिक वृद्धि देखी गई।
 
इससे पहले साल-दर-साल आधार पर उच्चतम मुद्रास्फीति अप्रैल में 36.4 फीसद दर्ज किया गया था। सीपीआई में नवीनतम वृद्धि के साथ औसत मुद्रास्फीति इस वित्त वर्ष के 11 महीनों (जुलाई से मई) में 29.16 फीसद तक पहुंच गई है, जबकि पिछले वर्ष यह 11.29 फीसद थी। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) द्वारा रुके हुए 6.5 बिलियन अमेरिकी डॉलर के सहायता पैकेज को पुनर्जीवित करने के लिए मांगे गए राजकोषीय समायोजन के हिस्से के रूप में सरकार द्वारा कठोर कदम उठाए जाने के बाद से इस साल की शुरुआत से ही पाकिस्तान में हर घर में मुद्रास्फीति की मार पड़ी है।

 

KhabarBhoomi Desk-1

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button