Top Newsविदेश

गुलाम कश्मीर में धांधली से जीती इमरान की पार्टी, पीएमएल-एन नेता बोले- जांच को भारत से मांगेंगे मदद

मुजफ्फराबाद, रायटर। गुलाम कश्मीर (गिलगिट-बाल्टिस्तान) में इमरान खान की तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी ने हिंसा, धांधली और सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर भले ही चुनाव जीत लिया है, लेकिन विपक्षी इस जीत को मानने के लिए तैयार नहीं हैं। नवाज शरीफ की पार्टी के एक नेता ने तो यहां तक कहा है कि धांधली की जांच नहीं हुई तो वह भारत की मदद लेने से भी गुरेज नहीं करेंगे। ज्ञात हो कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में चुनाव कराए जाने पर भारत ने सख्त एतराज दर्ज कराया है। रविवार को हुए मतदान के दौरान कई क्षेत्रों में जबर्दस्त हिंसा हुई। इस हिंसा में इमरान खान की पार्टी के दो कार्यकर्ताओं की मौत हो गई। 32 लाख की आबादी वाले क्षेत्र में हुए चुनाव में कुल सात सौ प्रत्याशी मैदान में थे। 53 सदस्यीय विधान सभा में 45 सीटों पर चुनाव हुए। पांच सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित हैं।

एएनआइ के अनुसार, अनौपचारिक परिणामों के अनुसार इमरान की तहरीक ए-इंसाफ-पार्टी (पीटीआइ) ने 24 सीटों पर जीत हासिल की है। पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) ने आठ सीटें जीती हैं। पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) को छह सीटें मिली हैं। इसके अलावा स्थानीय दो पार्टियों को भी एक-एक सीट हासिल हुई है। विपक्षी दल पीएमएल-एन की नेता मरयम नवाज ने कहा है कि वह हिंसा और धांधली के बल पर होने वाले चुनाव परिणामों को नहीं मानती हैं। न तो मैंने इस जीत को स्वीकार किया है और न ही करूंगी। यहां सत्तारूढ़ दल ने सरकारी मशीनरी का जमकर दुरुपयोग किया। उन्होंने ट्वीट कर अपनी पार्टी के नेता अताउल्लाह तरार सहित दर्जनों कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार करने की भी निंदा की। पीएमएल-एन के नेता और पार्टी के प्रत्याशी चौधरी मुहम्मद इस्माइल गुज्जर ने कहा कि चुनाव में पूरी तरह से अराजकता रही। प्रशासन खुलेआम सत्ता दल का साथ दे रहा था। चुनाव आयोग ने यदि कोई कार्रवाई नहीं की, तो वह भारत की मदद लेंगे। चुनाव के दौरान चार पाक सैनिक भी सड़क दुर्घटना में मारे गए हैं।

Show More

khabarbhoomi

खबरभूमि एक प्रादेशिक न्यूज़ पोर्टल हैं, जहां आपको मिलती हैं राजनैतिक, मनोरंजन, खेल -जगत, व्यापार , अंर्राष्ट्रीय, छत्तीसगढ़ , मध्याप्रदेश एवं अन्य राज्यो की विश्वशनीय एवं सबसे प्रथम खबर ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button