Top Newsखेल

दुनिया के सर्वश्रेष्ठ टेनिस खिलाड़ी बनने से सात कदम दूर है नोवाक जोकोविक

न्यूयार्क, एपी : साल के अंतिम ग्रैंडस्लैम यूएस ओपन का आज से आगाज हो रहा है। जिसमें दुनिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविक सर्वाधिक 21वां ग्रैंडस्लैम हासिल करने उतरेंगे। इसके लिए वह सात जीत यानी यूएस ओपन के हर दौर में वह अगर जीतते चले जाते हैं तो कुल सांतवें मैच को जीतने के बाद उनके हाथ में 21वें ग्रैंडस्लैम का खिताब होगा। जिससे टेनिस जगत में नोवाक जोकोविक, रोजर फेडरर और राफेल नडाल के बीच जारी सर्वश्रेष्ठ की जंग में खुद को 21 भी साबित करना चाहेंगे।

इसी साल के पिछले तीन ग्रैंडस्लैम (आस्ट्रेलियन ओपन, फ्रेंच ओपन, और विंबलडन) को अपने नाम करने के बाद अब जोकोविक की यूएस ओपन में राह आसान नजर आ रही है। क्योंकि इस टूर्नामेंट में टेनिस के अन्य दो दिग्गज खिलाड़ी रोजर फेडरर और राफेल नडाल चोट के कारण खेलते हुए नजर नहीं आएंगे। वहीं यूएस ओपन के गतचैंपियन डोमिनिक थिएम भी कोर्ट से बाहर चल रहे हैं।

इस साल नहीं हारे एक भी ग्रैंडस्लैम मैच

34 वर्षीय जोकोविक इस साल ग्रैंडस्लैम जीतने की दौड़ में अभी तक एक भी मैच नहीं हारे हैं। आस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में डेनिल मेदवेदेव, फ्रेंच ओपन के फाइनल में स्टीफानोस सितसिपास और विंबलडन के फाइनल में इटली के मैटियो बेरेतनी को हराया है। अब अपनी इसी शानदार लय को जोकोविक अब यूएस ओपन में भी जारी रखना चाहेंगे।

मेदवेदेव, मरे और ज्वेरेव चुनौती देने के लिए तैयार

जोकोविक इस साल भलें ही एक भी ग्रैंडस्लैम मैच ना हारे हो लेकिन जर्मनी के एलेक्जेंडर ज्वेरेव ने टोक्यो ओलिंपिक सेमीफाइनल में हराकर उनका गोल्डन स्लैम का सपना तोड़ा था। ओलिंपिक में ज्वेरेव ने पहले सेट में पिछड़ने के बाद शानदार वापसी करते हुए जोकोविक को 1-6, 6-3, 6-1 से हराया था। इसके बाद जोकोविक कांस्य पदक के मैच में भी पाब्लो कोरेनो बुस्ता से हार गए थे। इस तरह गोल्डन स्लैम का (एक ही साल के चारो ग्रैंडस्लैम खिताब और उसी वर्ष ओलिंपिक में स्वर्ण पदक) सपना तोड़ने के बाद एलेक्जेंडर ज्वेरेव, डेनिल मेदवेदेव और एंडी मरे जैसे खिलाड़ी उनके 21वें ग्रैंडस्लैम के सपने को भी तोड़ने के लिए पूरा दमखम लगा देंगे।

वहीं महिलाओं में यूएस ओपन पर नजर डालें तो मानसिक बीमारी के कारण मीडिया से बात न करने को लेकर चर्चा में रहीं जापान की नाओमी ओसाका एक बार फिर खिताब पर कब्जा जमाना चाहेंगी। वहीं गतचैंपियन ओसाका को चुनौती देने के लिए दुनिया की नंबर एक महिला टेनिस खिलाड़ी एश्ले बार्टी भी तैयार हैं। इनके अलावा कैरिलोना प्लिस्कोवा, पेत्रा क्वितोवा और बियाना आन्द्गेस्कू पर भी नजरें होंगी।

-नौ आस्ट्रेलियन ओपन, छह विंबलडन, दो फ्रेंच ओपन और तीन बार यूएस ओपन जीत चुके हैं जोकोविक

-20 ग्रैंडस्लैम अभी तक बिग थ्री कहे जाने वाले तीनों खिलाड़ी नोवाक जोकोविक, रोजर फेडरर, और राफेल नडाल के नाम हैं

-52 सालों से कोई भी टेनिस खिलाड़ी एक कैलेंडर वर्ष में चारों ग्रैंड स्लैम अपने नाम नहीं कर पाया है, इससे पहले 1969 और 1962 में एक साल के चारो ग्रैंडस्लैम राड लेवर ने जीते थे

सानिया और क्रिस्टीना की जोड़ी रही उप विजेता

क्लेवलैंड (अमेरिका), प्रेट्र : भारत की अनुभवी टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा और अमेरिका की उनकी जोड़ीदार क्रिस्टीना मैकहाल फाइनल में शुको आयोमा और एना शिबाहारा की शीर्ष वरीय जोड़ी के खिलाफ शिकस्त के साथ डब्ल्यूटीए 250 टेनिस प्रतियोगिता में उप विजेता रहे। सानिया और क्रिस्टीना को फाइनल में जापान की जोड़ी के खिलाफ एक घंटे और 24 मिनट में 5-7 3-6 से शिकस्त झेलनी पड़ी। सत्र के पहले फाइनल में जगह बनाने के लिए सानिया को 180 रैंकिंग अंक और तीन हजार डालर (करीब दो लाक्ष रुपये) की राशि मिली।

Show More

khabarbhoomi

खबरभूमि एक प्रादेशिक न्यूज़ पोर्टल हैं, जहां आपको मिलती हैं राजनैतिक, मनोरंजन, खेल -जगत, व्यापार , अंर्राष्ट्रीय, छत्तीसगढ़ , मध्याप्रदेश एवं अन्य राज्यो की विश्वशनीय एवं सबसे प्रथम खबर ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button