मध्यप्रदेश

पटरी पर आए विश्वविद्यालय, परीक्षाओं पर जारी होगा संशोधन

भोपाल

प्रदेश के 9 पारंपरिक विश्वविद्यालयों के कर्मचारी, अधिकारी और प्रोफेसरों की हड़ताल समाप्त हो गई है। अब विश्वविद्यालयों का फोकस स्थगित परीक्षाओं पर रहेगा, इसलिए अब सभी विश्वविद्यालयों की परीक्षाओं के संशोधित कार्यक्रम जारी होंगे।

प्रदेश में संचालित 9 विश्वविद्यालयों में प्रवेशरत 20 लाख विद्यार्थियों की परीक्षाओं का जिम्मा अब कर्मचारी, अधिकारी और प्रोफेसरों पर आ गया है। क्योंकि सरकार ने उनकी मांगें पूर्ण रूप से मान ली हैं। आंदोलनकारी कर्मचारियों ने शासन को आश्वासन दिया है कि वे परीक्षाओं में दोगुनी ऊर्जा से कार्य करेंगे। संघर्ष समिति के पदाधिकारी लखन सिंह परमार  कहा कि परीक्षाएं कराने से लेकर रिजल्ट जारी होने तक कर्मचारी किसी भी कार्य में लापरवाही नहीं बरतेंगे।

Related Articles

परीक्षाओं में विलंब, लेकिन समय पर आएगा रिजल्ट
सभी विवि के कर्मचारी एक पखवाडेÞ से आंदोलन कर रहे थे। इसलिए परीक्षाएं स्थगित कर दी गई थीं। ये परीक्षाएं अगले सप्ताह से शुरू होने वाली थीं, लेकिन हड़ताल खत्म होने के बाद सभी विवि को अपने संशोधित कार्यक्रम जारी करना होंगे। इसके चलते परीक्षाएं 15 दिन विलंब से शुरू हो सकेंगी। कर्मचारियों का कहना है कि वे बर्बाद समय की पूर्ति करने में कोई कसर नहीं छोडेंÞगे। इससे परीक्षाएं भले ही विलंब से शुरू हो पर रिजल्ट समय पर जारी होंगे।

शासन से कर्मचारियों के हितों को ध्यान में रखते हुए निर्णय लिए हैं। इसलिए परीक्षाओं और रिजल्ट समय पर जारी करने में लापरवाही नहीं होने देंगे।
लखन सिंह परमान, सचिव, राज्य विवि कर्मचारी महासंघ

KhabarBhoomi Desk-1

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button