छत्तीसगढ़

भारतीयों का कमाल, अब इस मोबाइल एप से छत्तीसगढ़ी का अंग्रेजी में होगा अनुवाद

रायपुर

मोबाइल एप के जरिए पहली बार छत्तीसगढ़ी शब्द का अंग्रेजी शब्दों में अनुवाद हो सकेगा। नार्थ अमेरिका छत्तीसगढ़ी एसोसिएशन (नाचा) ने दो वर्ष के शोध के बाद छत्तीसकोश मोबाइल एप तैयार कर लिया है। इस मोबाइल एप पर 25000 अंग्रेजी शब्दों का छत्तीसगढ़ी में अनुवाद करने की सुविधा है। अभी तक गूगल या इंटरनेट में छत्तीसगढ़ी का अंग्रेजी में अनुवाद करने की सुविधा नहीं थी। अमेरिका के अलग-अलग शहरों में रहने वाले छत्तीसगढ़ के युवाओं ने इस प्रोजेक्ट पर दो वर्ष पहले काम शुरू किया था।

अमेरिका में रहने वाले छत्तीसगढ़ के प्रवासी भारतीयों ने किया कमाल, अभी 25000 शब्द शामिल

अब इस मोबाइल एप की लांचिंग रायपुर में 10 जून को होने वाली है। मूलत: बस्तर निवासी व अमेरिका के शिकागो में रहने वाले नाचा के अध्यक्ष गणेश कर ने बताया कि इस मोबाइल एप को तैयार करने के लिए पं. रविशंकर शुक्ल विवि के प्राध्यापकों, प्रदेश के साहित्यकारों और छत्तीसगढ़ी भाषा के छात्रों का सहयोग लिया गया।

मोबाइल एप में छत्तीसगढ़ी भाषा के ट्यूटोरियल वीडियो भी अपलोड किए गए हैं। दूसरे चरण में एक लाख से अधिक शब्दों को शामिल किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि नाचा संस्था में दुनियाभर के 19 देशों में रहने वाले छत्तीसगढ़ के तीन हजार से अधिक एनआरआइ जुड़ चुके हैं।

इन साहित्यकारों का सहयोग

परदेशीराम वर्मा, सुरेंद्र दुबे, सुधीर शर्मा, सुशील भोले,अरुण कुमार निगम, सविता पाठक, गीता त्रिपाठी, शोभामोहन श्रीवास्तव, मोहन श्रीवास्तव,रामनाथ साहू,दीपाली ठाकुर, आशा देशमुख, तुलसी तिवारी, सरल शर्मा, अमिता दुबे, सुमित्रा कमड़िया आदि शामिल हैं।

देश-दुनिया में पहुंचेगा छत्तीसगढ़ी

नाचा की सह-सचिव शशि साहू ने बताया कि इस मोबाइल एप के जरिए छत्तीसगढ़ व राज्य के बाहर रहने वाले लोग छत्तीसगढ़ी को बेहतर तरीके से समझ पाएंगे। छत्तीसगढ़ी का महत्व देश-दुनिया में बढ़ेगा।

नार्थ अमेरिका छत्तीसगढ़ी एसोसिएशन (नाचा) अध्यक्ष गणेश कर ने कहा, छत्तीसकोश मोबाइल एप की लांचिंग 10 जून को रायपुर में होगी। हमारा लक्ष्य है कि 1.20 लाख अंग्रेजी के शब्दों का छत्तीसगढ़ी शब्दों में अनुवाद की सुविधा मोबाइल एप पर दी जाए। दूसरा चरण अगले वर्ष शुरू होगा।

एप में यह रहेगा खास

1. छत्तीसगढ़ के पुरातात्विक स्थलों की जानकारी

2. प्रमुख साहित्यकारों की छत्तीसगढ़ी में रचनाएं

3. पुराने गीत, लोकोक्ति, लुफ्तप्राय शब्द

4. छत्तीसगढ़ कला-संस्कृति,सभ्यता की झलक

5. छत्तीसगढ़ी तीज-त्यौहार,पकवान आदि

KhabarBhoomi Desk-1

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button